2022 में नेपाल की जनसंख्या कितनी है, जानिए Nepal की पूरी जानकारी

आपलौग तो नेपाल के बारे में जानते तो होगे नेपाल एक ऐसा देश है जहां Visa की कोई जरूरत नही है और किसी भी देश का व्यक्ति वहां पर बहुत आसानी से घुम सकते हैं ।

लेकिन एक ही ऐसा देश है जहां पर कोई रेलवे लाइन नहीं है सिर्फ गाड़ी और फ्लाइट से ही वहां लोग जाते हैं और घुमते है ।

आज हम इस टॉपिक में बात करेंगे नेपाल के जनसंख्या और नेपाल कि कुछ इतहिसक के बारे में तो चलिए करते हैं ।

कुछ दिन ही पहले भारत के कुछ विरुद्ध बयानबाज़ी को लेकर बहुत सुर्ख़ियों में आए नेपाल के रुख वर्तमान में भारत के प्रति दिन बदल गया है। इसके पीछे भारत सरकार द्वारा कोरोनावायरस की वैक्सीन की फ्रि में खेप Nepal को पहुंचाना के लिए बयानबाज़ी हुआ था।

एक छोटी सी देश नेपाल कितने दिनों तक आगे भारत के खिलाफ बयानबाज़ी नहीं करेगा यह तो भविष्यवाणी ही बता सकता है। लेकिन आज हम आपको अपने आर्टिकल में बताएंगे कि 2021 में नेपाल की जनसंख्या कितनी है। और इसके साथ ही आपको हम Nepal से जुड़ी हुई कुछ दिलचस्प जानकारियां भी देंगे।

जानिए नेपाल की जनसंख्या कितनी है

आप किसी भी देश की आबादी के विषय में सटीक जानकारी देना बहुत मुश्किल होती है, क्योंकि हर दिन , हर सेकंड में विश्व की आबादी बढ़ती रहती है। ऐसे में कई वेबसाइट ऐसी है जो सभी देशों की जनसंख्या की गणनाओं करने का कार्य कर रही है। इस सभी वेबसाइटों में से है एक है जो कि वर्ल्ड मीटर का नाम से जाना जाते हैं ।

चलिए बात की जाए Nepal की जनसंख्या की तो वर्तमान में तो नेपाल की आबादी बहुत ही कम है एक रिपोर्ट के मुताबिक आंकड़ों की बात करे तो नेपाल की जनसंख्या 2021 में 2 करोड़ 87 लाख है। Nepal की इस कम जनसंख्या का कारण यहां जनसंख्या वृद्धि दर का काफी कम हुई है।

जैसे कि नेपाल देश की जनसंख्या की तुलना भारत देश से की जाए तो यह भारत की जनसंख्या का 2 प्रतिशत से भी कम है। आपको बता दे कि भारत की जनसंख्या वर्तमान में 136 करोड़ हैं।

नेपाल से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें

एक बात बता दु भारत और नेपाल के रिश्ते काफी मजबूत मना जाता है। अन्य पडोसी देशों की तुलना में Nepal का झुकाव भारत की ओर कुछ ज्यादा है। इसके पीछे का कारण है भारत और नेपाल की धार्मिक और सांस्कृतिक मान्यताओं में समानता होना ।

स्कन्द पुराण के अनुसार भारतीय ऋषि नेमी हिमालय निवासी थे, जिनके नाम पर ही नेपाल का नाम रखा गया है। ऋषि नेमी ने ही काठमांडू की घाटी को बसाया था तथा इसके संरक्षण का पूरा कार्य भी किए थे।

और नेपाल हिमालय के ज़्यादातर क्षेत्र में लौंग बसा हुआ है और हिंदू मान्यता के अनुसार देखा जाए तो हिमालय भगवान शिव का घर माना जाता है। हालांकि हिमालय पर्वत नेपाल के साथ – साथ पुरे भारत, पाकिस्तान, भूटान और चीन में भी फैला हुआ है।

आपको बता दे कि नेपाल में ही दुनिया के सबसे ऊँचे 10 पर्वतों में से 8 पर्वत अभी मौजूद है। इतना ही नहीं नेपाल में ही पुरे दुनिया का सबसे बड़े यानी ऊँचा पर्वत माउंट एवरेस्ट भी मौजूद है, जो 8848 मीटर ऊँचा है।

अगर कोई आप से पूछता है की हिंदू राष्ट्र कौन सा है तो आपकी ज़ुबान पर भारत का नाम ही आएगा। लेकिन आपको बता दे कि विश्व का एकमात्र हिंदू राष्ट्र नेपाल ही है। जहां अनुपात के मामले में सबसे अधिक हिंदू लोग वहां निवास करते है।

आपको बता दे कि यहां पर 95 फीसदी लोग हिंदू धर्म को मानते हैं और 5 फीसदी लोग बौद्ध और अन्य धर्म को मानते है। नेपाल का राष्ट्रीय पशु गाय है और यहां गौहत्या को बहुत बड़ी गैर कानूनी माना जाता है।

नेपाल के विषय में कुछ अन्य जानकारी

नेपाल पर कभी किसी दूसरे देश ने शासन नहीं किया था इसलिए नेपाल में कभी स्वतंत्रता दिवस नहीं मनाया जाता है । ग़ौरतलब है कि 2008 में नेपाल में राजतंत्र की समाप्ति के बाद गणतंत्रता शासन की शुरुआत भी हुई तथा राम बरन यादव यहां के पहला राष्ट्रपति बने थे।

नेपाल में गणतंत्र शासन की शुरुआत कब हुई?

अगर आप से पूछा जाए की हिंदू राष्ट्र कौन सा है तो आपकी ज़ुबान पर भारत का नाम आएगा। लेकिन आपको बता दे कि विश्व का एकमात्र हिंदू राष्ट्र नेपाल ही है। जहां अनुपात के मामले सबसे अधिक हिंदू लोग निवास करते है।

बता दे कि यहां 95 फीसदी लोग हिंदू धर्म को तथा 5 फीसदी लोग बौद्ध और अन्य धर्म को मानते है। नेपाल का राष्ट्रीय पशु गाय है और यहां गौहत्या को गैर कानूनी माना जाता है।

चुकीं Nepal पर कभी किसी दूसरे देश ने शासन नहीं किया इसलिए नेपाल में स्वतंत्रता दिवस नहीं मनाया जाता। ग़ौरतलब है कि 2008 में नेपाल में राजतन्त्र की समाप्ति के बाद गणतंत्र शासन की शुरुआत हुई तथा राम बरन यादव यहां के पहले राष्ट्रपति बने।

उम्मीद है कि आपको हमारा आर्टिकल पसंद आया होगा और आपको यह जानकारी मिल गई होगी की 2021 में Nepal की जनसंख्या कितनी है।

नेपाल में कितने जिला है

नेपाल देश और इसका संविधान भारत का पड़ोसी देश नेपाल है 20 सितंबर 2015 को संविधान लागू हुई थी और नेपाल इसी दिन स्वतंत्रता दिवस भी मनाता है इस संविधान के अनुसार नेपाल को भारत की राज्यों की अवधारणा के अनुसार ही राज्य या प्रदेश और जिलो में बांटा गया और नेपाल में संविधान के अनुसार नेपाल में कुल सात राज्य हैं. इन राज्यों में अलग-अलग संख्या में जिले हैं सभी राज्यों को मिलाकर पूरे नेपाल में 77 जिले हैं ।

लगातार पूछे जाने वाले प्रश्न

प्रश्न 1- नेपाल की राजधानी क्या है?
नेपाल की राजधानी काठमांडू है।

प्रश्न 2- नेपाल की जनसँख्या कितनी है?
2021 के अनुमान के मुताबिक नेपाल की जनसंख्या 28,095,714 है।

प्रश्न 3- नेपाल की मुद्रा का नाम क्या है?
नेपाली रुपया

प्रश्न 4- नेपाल की संसद का क्या नाम है?
नेपाल की संसद का नाम नेशनल असेंबली है।

 

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published.