स्क्रीन टच मोबाइल का आविष्कार किसने किया था (In Hindi)

आज के समय में स्मार्टफोन पूरी दुनिया में देखने को मिलता हैं हर दिन अरबों खरबों लोगों द्वारा स्मार्टफोन उपयोग किया जाता है।
और इस स्मार्टफोन हमलोग का जीवन जीने के कुछ अलग तरीकों में क्रांति की है। स्मार्टफोन मोबाइल फोन के साथ कई कंप्यूटर सुविधाओं को जोड़ी रहतीं हैं ।
ज्यादातोर आधुनिक स्मार्टफ़ोन में टच स्क्रीन, इंटरनेट तक पहुंचा और एक ऑपरेटिंग सिस्टम होता है
जो अतिरिक्त सॉफ्टवेयर और ऐप्स को डाउनलोड करने की अनुमतियां देती है।
स्मार्टफोन ने पुरे देश को बदल दिया है लेकिन इंटरनेट से खोजें कर किसी भी सवाल का जवाब दे सकते हैं
स्मार्ट फोन। और जीपीएस सिस्टम के द्वारा , हम यह पता भी लगा सकते हैं कि हम कहां जा रहे हैं।
और साथ में हम दुनिया भर में अपनी दोस्तों, परिवार और सहकर्मियों के संपर्क में रहने के लिए आपको ईमेल, त्वरित संदेश, एसएमएस, कॉल और वीडियो चैट का उपयोग भी कर सकते हो।
सबसे पहले टेलीफोन का आविष्कार (खोज) अलेक्जेंडर ग्राहम बेल ने ही किया था, और उन्होंने सन् 1879 में अपना पहला टेलीफोन कॉल भी किया था।
और सन् 1 9 71 के दशक में पहले व्यावसायिक के रूप से उपलब्धता फोन के साथ सेल फ़ोन विकसित किए गया था।
और इजाजत भी दे दिया था सेल फोन से लोगों को कॉल करने के लिए एक SMS के साथ टैथर्ड किया जा रहा है।
IBM साइमन मरांडी 1995 में पुरे दुनिया का पहला व्यावसायिक रूप से उपलब्ध स्मार्टफोन मना जाता था ।
और इस सेल फोन फीचर्स में जैसे कि ईमेल, फ़ैक्स, नोट लेने, एक एड्रेस बुक और कैलकुलेटर बहुत ऐसी ऐप के साथ कॉल करने की क्षमता के साथ संयुक्तांक है।
और इसमें स्टाइलस-आधारित टच स्क्रीन थी। साइमन को ट्रेंड रियर, छोटे एक फ्लिप फोन से पीछे छोड़ दिया गया था, भले ही उनमें कुछ विशेषताओं थोड़ी कमी थी।
इसके बाद 91 के दशकों के अंत तक बहुत सारे विकल्पों उपलब्धता थे, उपभोक्ताओं को प्रौद्योगिकीविदों को शिवकार कर में धीमा था।
और ब्लैकबेरी ने पूर्णतः QWERTY की-बोर्ड के साथ अपने लॉन्च के साथ रुझान पुरे बदल दिए; यह व्यापार लोगों के साथ लोकप्रिय हो गया।
सन् 2007 में, दुनिया में पहला आईफोन ऐप्पल द्वारा जारी किया गया था। और यहां फोन सिर्फ उद्देश्य रोज़मर्रा के उपयोगकर्ताओं के लिए था,
केवल व्यापारिक लोगों के लिए नहीं। आईफोन में एक टच स्क्रीन भी था जो स्टाइलस पर भरोसा नहीं किया जाता‌ था ,
जिसका अर्थ है कि उपयोगकर्ताओं को केवल अपनी उंगलियों का ही ज्यादा उपयोग करना पड़ता था। मोबाइल उपकरणों की इन शैली ने सन् 2010 के बाद पुरे मार्केट में आना चालु हो गया ।
आपको कभी किसी ने अज्ञात टेलीफोन नंबर से कॉल आया है या आपके दिमाग़ में सबसे पहला फ़ोन आता है कि यह फ़ोन नंबर किसका है बहुत ऐसी फोन कॉल आती है
जो कि आपको परेशान करती रहती है। और आप इस नम्बर को पता लगाना चाहते हैं यह फ़ोन नंबर किसका है ।
वह लौंग एक ऐसी व्यक्ति होते हैं केवल एक बहुत बड़ी बेवकूफ़ वाले इनशान होता है, उनको सिर्फ लोगों को या आपको परेशान करना चाहते है
जो आपके फ़ोन नंबर का प्रश्न आपके दिमाग़ में लाता है।

मोबाइल फ़ोन का मतलब

मोबाइल का मतलब है कि आप किसी भी जगह है जैसे कि कार्य जहां आप चाहें ले जा सकते हैं
चाहे आप घर में है या हवाई जहाज़ से कहीं जा रहे हैं, Hotal में है या कहीं दूर, आप इसके फायदे बहुत आसानी से उठा सकते हैं,
चाहे आपको बात करनी हो या, अपने मोबाइल से Computer से जोड़कर कोई नई फाइल या फोल्डर खोलना या काम करना चाहते हैं
या फिर कुछ आंकड़ों का आदान-प्रदान करना हो या E-mail किसी को भेजना हो या देखना हो, मोबाइल के जरिये आप दुनिया भर की सूचनाएँ अपने साथ ले जा सकते हैं,

और देख सकते हैं व उनका प्रयोगों जहाँ चाहे वहाँ बिल्कुल कर सकते हैं।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published.