कम समय में कैसे परीक्षा की तैयारी करें – हिन्दी में जानकारी

बहुत ऐसी लड़का , लड़की है । जो कि परीक्षा को ले के बहुत टेंशन होता है कि परीक्षा का तेयारी कैसे करें । उन लोगो के लिए में आज का टॉपिक ले के आया हूं

हम सभी जानते हैं कि परीक्षाओं की तैयारी के लिए साल भर का समय हि होता है। लेकिन कुछ कारणों से आप सही से पढ़ाई लिखाई नहीं कर पाते हैं या आपको लग रहा है कि आपकी तैयारी पूरी नहीं है तो ये स्टडीज टिप्सी से आपको बहुत सहायता देंगी। तो हम आप को आज यही बताने वाला हूं कम समय में परीक्षा की तैयारी कैसे करें

इन्हें फॉलो कर के आप कम समय में भी परीक्षा की बेहतर तैयारी कर सकते हैं।

सिलेबस को ध्यान से पढ़े

जैसे कि सभी व्यक्तियों जानते हैं कि परीक्षा की तैयारी के लिए साल भर का समय पर्याप्तता होता है। यदि कुछ कारणों से आप ठीक तरीके से पढ़ाई नहीं कर पाए या अगर आपको लग रहा है कि परीक्षाएं के हिसाब से आपकी तैयारीयां पूरी नहीं कर पाते है तो हमारे इस अर्टिकल में दिये टिप्स से आपको काफी हेल्पफुल मिल सकती है।

परीक्षा से कुछ समय पहले हार्ड वर्क के साथ ही स्मार्ट वर्क की अहमियत को समझना भी बेहद महत्त्वपूर्ण है।

 

और कम समय में परीक्षार्थियों की तैयारीयां करनें के लिए आपकों सबसे पहले-पहले अपने सिलेब्स को ध्यानपूर्वक देखें और फिर सिलेब्स के अनुसार ही पढ़ें होता है। और ध्यान रहे की परीक्षाएं के समय में सिलेबस के बाहर का पढ़कर अपना समय बरबाद बिल्कुल न करें।

फिर पिछले साल के प्रश्न- पत्रों से करें तैयारी

किसी भी सब्जेक्ट्स के एग्जामिनेशन की तैयारी शुरू करने से पहले आप उस सब्जेक्ट के पिछ्ले वर्षों के पेपर्स अवश्यं देख लें। ताकि आपको बहुत ही अच्छा रहेगा और पिछले वर्ष के पेपर्स देखते समय इन बातों का ध्यान रखें।

और किस खण्ड से सबसे ज्यादा प्रश्न पूछे गए हैं।
किन प्रसंग से लगभग हर साल सवाल पूछे गए हैं।

किस खण्ड से सबसे कम सवाल पूछे गए।

किस खण्ड से सरल सवाल पूछे गए और किससे कठिन सवाल पूछे गए हैं।
इससे आपको यह समझ में आ जाएगा कि किस विषय का कौन सा टॉपिक परीक्षा के लिए सबसे ज्यादा महत्त्वपूर्ण है। सबसे पहले ज्यादा वेटेज वाले चैप्टर्स को ही तैयार करें।

मॉडल पेपर से तैयारी जरूर करें

कम समय में परीक्षा में अच्छे प्रदर्शनकारियों के लिए प्रैक्टिसेज करना बेहद आवश्यकताओं है। भले ही आपने पूरा सिलेब्स अच्छी तरह से पढ़ा हो पर यदि आप लिखकर प्रैक्टिसेज नहीं करेंगे तो शायद परीक्षाओं के समय पूरा पेपर सॉल्विंग न कर पाएं।

इसलिए परीक्षा की बेहतर तैयारी के लिए मॉडल पेपर से नियमित तौर पर प्रैक्टिस करें। मॉडल पेपर सॉल्व करने से न सिर्फ आपकी राइटिंग स्किल्स बढ़ेगी, बल्कि परीक्षा के लिए कुछ महत्वपूर्ण कंसेप्ट के बारे में भी जानकारी मिल जाएगी।

याद करने के साथ रिवीजन भी बहुत जरूरी है

एग्जाम्स की तैयारी में रिवीजन का रोल बहुत अहम किरदार होती है। आप चाहे कितना भी पढ़ लें लेकिन अगर आपने समय-समय पर उसका रिवीजन नहीं किया तो आप बिल्कुल उसे भूल भी सकते हैं। एग्जाम्स की बेहतर तैयारी के लिए विष्यों का रिवीजन करना बहुत जरूरी होती है।

इसलिए कम समय में भी उसे नियमितीकरण तौर पर हरदम दोहराते रहें। रिविजन से आपको अपनी कमियों का भी पता चल जाती है। इससे आपको एग्जाम से एक दिन पहले रिवीजन करने में भी तकलीफ नहीं होगी और आप एग्जाम में वह गलतियां नहीं कर पाते हैं।

पहले तैयार करें शॉर्ट आंसर्स

कम समय में परीक्षा की तैयारी के लिए किसी भी टॉपिक को तैयार करते समय आप 1 Mark या 2 Marks वाले प्रश्नों को पहले पुरे तैयार कर लें।

इस तरह से आप बेसिक कॉन्सेप्ट्स को अच्छी तरह से समझ जायेंगे और आपको बड़े प्रश्नों को तैयार करने में भी मंदद मिलेंगी। इस तरीक़े से आप परीक्षाओं का पूरा सिलेब्स तेजी से कबर कर सकते हैं।

कैसे याद करें लॉन्ग आंसर्स

जैसे कि कम समय में लॉन्ग आंसर्स तैयार करने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि आप अपने बड़े आंसर्स को छोटे-छोटे पॉइंट्स में बांट लें और फिर हर पॉइंट को लिख कर याद करें।

बड़े से बड़े आंसर्स को भी अगर आप 5 बार या 6 बार लिखकर याद करेंगे तो वह आपको जरूर याद हो जाएगा। इस तरह पढ़ने से आपको यह आंसर्स याद रखने में कोई तकलीफ नहीं होगी।

अपनी कमजोरी का पता लगाएं

आपको परीक्षा के दृष्टिकोणों से यह महत्त्वपूर्ण है कि आप अपनी कमजोरी को स्वीकार करते रहे उनपर ज्यादा मेहनत करें। मान लीजिए, जैसे कि आप गणित में कमजोर हैं, जाहिर है कि यह आपको डराएगा और आप उतना ही अनदेखा कर देंगे।

किंतु ऐसे विषयों को नजरअंदाज करना बंद करें क्योंकि पांच में से कोई न कोई विषय ऐसा होगा जो आपके दिमाग से बाहर है या आप उससे बोर हो रहे हैं।

ऐसे विषय पर खास ध्यान दें। परीक्षा में कम समय होने पर अगर आप अपनी कमियों पर ध्यान देंगे तो आप परीक्षा में बहुत ज़्यादा बेहतर कर पायेंगे।

पढ़ाई के दौरान लंबे ब्रेक न लें

आमतौर पर पढ़ाई के बीच में ब्रेक लेने की सलाह दी जाती है, लेकिन किसी ने भी समय अवधि और ब्रेक की संख्या के बारे में नहीं जानते हैं और नहीं बताया है।

जैसे कि हम आपको बता दें विशेषकर रूप से आपको हर 40 मिनट के अध्ययन के दौर में 20 मिनट का ब्रेक लेना चाहिए। साथ ही, 15 मिनट के ब्रेक को 10+5, 5+10 या 5+5+5 में विभाजित न करें क्योंकि इससे आप विचलित होंगे।

इसलिए कहा जाता है पढ़ाई-लिखाई के दौरान एकाग्रतापूर्वक बनाए रखने के लिए एक घंटे में छोटा ब्रेक लें। परीक्षा में चाहे कितना कम वक्तव्य क्यों न हो लेकिन आपको पढ़ते समय ब्रेक लेना चाहिए।

अच्छी नींद लें और अच्छा खाएं

बहुत कम व्यक्ति जानते होंगे कि सबसे महत्त्वपूर्ण बात यह है कि पढ़ाई के दौरान खुद को चौकसी रखने के लिए आपको स्वस्थता खाना चाहिए और आराम करना बहुत जरूरी होती हैं। इसके लिए, आपको 5-7 घंटे सोना चाहिए।

कुछ शारीरिक व्यायाम और ध्यान करने के लिए कुछ समय निकालें, इससे आपको शारीरिक और मानसिक फिटनेस में बहुत सुधार करने में मदद मिलती है।

साथ ही जंक फूड, चीनी लेपित उत्पादों और कैफीन से बचें क्योंकि ये चीजें आपके शरीर को अधिक थका देती हैं और आप पढ़ाई के दौरान ध्यान केंद्रित नहीं कर सकते।

परीक्षा में कम समय होने पर भी आपको नींद पूरी लेनी चाहिए इससे आप पूरी ऊर्जा के साथ पढ़ सकेंगे।

फोन से दूर रहें

परीक्षा के दौरान मोबाइल फोन डिस्ट्रक्ट करने वाली चीजों में से एक है। फेसबुक, इंस्टाग्राम, व्हाट्सएप और अन्य मैसेंजर ऐप्स को कुछ समय के लिए बिल्कुल बंद ही कर दें क्योंकि ये आपका ध्यान विचलित कर देंगे।

और हालांकि आप नोट्स और ये सब बातें शेयर कर रहे हैं तो एक बेहतर विकल्पहीनता है कि आप अपने मम्मी या पापा या भाई से फोन मांगें और अपना काम करें। यदि आपकी परीक्षा में कम समय है और आप अच्छा स्कोर करना चाहते हैं तो जितना हो सके फोन से दूर ही रहें।

दूसरों को पढ़ाये

अपने दैनिकों आधारित दिनचर्या से एक दिन अलग करें और अपने दोस्तों-यारों के साथ जाएं, उन्हें वही सिखाएं जो आपने सीखा है। यह दोहराने और याद करने का भी सबसे अच्छा तरीका माना गया है। जब आप किसी अन्य को पढ़ाएंगे तो आपकी अवधारणाएं और स्पष्ट हो जाएगी।

अगर आपको कोई इंसान आपकी बात नहीं सुन रहा है, तो उसे जबरदस्ती बैठने और सुनने के लिए कहें। यह आपके साथ-साथ उसकी भी मदद करेगा। यदि आपके आस-पास कोई नहीं है तो एक आईने के सामने बैठें और खुद को आईने में समझने की कोशिशें बिल्कुल करें

तत्काल स्व-परीक्षण

अध्ययनकर्ताओं करने के बाद एक क्लिक परीक्षणों प्रश्नोत्तरी समाप्ति तक अच्छा करें। चीज़ों को जल्दी से याद करने के लिए टेस्टिंग सबसे अच्छे तरीकों में से एक है। जो प्रश्न आपको कठिन लगते हैं, उन्हें छोड़ दें और परीक्षा समाप्ति होने के बाद उन पर वापस आएं। प्रत्येक परीक्षा के लिए प्रश्नों की संख्याओं के आधारभूत पर एक टाईमर सेट करें।

निष्कर्ष

तो आप इन सभी टिप्सारेविक का फॉलो करके आप कम समय में परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं। यदि आपको हमारी यह पोस्ट “कम समय में परीक्षा की तैयारी कैसे करें” पसंद आई है तो अपने दोस्तों के साथ सांझा करें। अगर आपके मन में अभी कोई भी क्षसवाल या सुझाव हो तो हमें कंमेंट करके जरूर बताएं।

 

Recent Post

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published.