गोवा की राजधानी कहां है ? | Capital of Goa in hindi

आज़ हम बात करने वाले हैं गोवा के राजधानी के बारे में और वहां का प्रसिद्ध क्या है जैसे कि आप लोग नाम तो सुनने होंगे कि गोवा का लेकिन गोवा में क्या प्रसिद्ध है उसके बारे में बहुत कम व्यक्ति जानते होंगे तो आज में इस टॉपिक में बहुत कुछ बताने वाला हूं ।
हमारे भारत देश के सबसे छोटे राज्यों और पश्चिमी प्रांत के गोवा की राजधानी पणजी है। और इसे पहले पंजीम के नाम से भी बुलाया जाती है। गोवा राज्य का गठन वर्ष 1987 में भारत के 25 राज्यों के रूप में हुआ था तब पणजी को इसकी राजधानी के रूप में चुना गया था।

भारत देश के पश्चिमी प्रांत के सबसे छोटे राज्य गोवा की राजधानी पणजी है

वर्तमान में देखा जाए तो हमारे भारत में कुल 28 राज्यों हैं जिनमें से क्षेत्रफल की हिसाब से सबसे छोटा राज्य है गोवा को मना जाता है, वही जनसंख्या के दृष्टिकोण से गोवा का स्थान भारत के अन्य राज्यों में चौथा है यानी कि क्षेत्रफल में सबसे छोटा होने के बावजूद यहां की जनसंख्या भारत के कुछ राज्यों में से अधिक है।
और राज्यों की राजधानी पणजी शहर आकार में गोवा के अन्य दो शहरों है उस में से वास्कोडिगामा और मडगांव के बाद तीसरे स्थान पर आती है। गोवा राज्यों अपने beach के लिए बहुत ज्यादा प्रसिद्ध मना जाता है, इसकी स्थिति मांडोवी नदी के मुहाने के तट पर है।

गोवा की क्षेत्रफल तथा जनसंख्या

जैसे कि बात करें हम क्षेत्रफल और जनसंख्या की तो गोवा वैसे ही भारत देश का सबसे छोटा राज्यों में से एक हैं यहां की राजधानी पणजी का क्षेत्रफल लगभग 36 km ² यानी लगभग 14 वर्ग मील ही है। और समुद्र के तल से इसकी ऊंचाई 60 मीटर जो कि लगभग 197 फी० की है
लेकिन वही जनसंख्या में, वर्ष 2011 की जनगणना जब हुआ तो उसके अनुसार इस महानगर की जनसंख्या लमसम 114405 है एवं यहां का जनसंख्या घनत्व 3200 व्यक्ति प्रति km ² है।
पुरुषों और महिलाओं के लिंगानुपात का प्रतिशत यानी कि क्रमशः 49.5% एवं 50.5% है। पणजी शहर की औसत साक्षरता दर 81% के करीब है जो कि राष्ट्रीय साक्षरता दर की औसत से अधिक है।
फिर भी पुरुष एवं महिलाओं के अलग-अलग साक्षरता दर क्रमश 85% और 77% है, यानी पुरुषों की तुलना में महिलाएं थोड़ी कम साक्षर पाई गई है। आंकड़ों के अनुसार यहां की कुल जनसंख्या का 10% आबादी 7% वर्ष से कम की है।

गोवा की भौगोलिक स्थिति एवं जलवायु

भौगोलिकता स्थितियां निकटवर्ती और जलवायु परिवर्तन में इसकी स्थितियां मांडोवी नंदी का मुहाना के तटीय पर उत्तरी गोवा में है। राजधानी पणजी के निकटतम प्रतिद्वंद्वी शहरों ओल्डी गोवा और मापुसा जैसे शहर भी है।
एवं जलवायु में, बहुत खास तौर-तरीकों पर गर्मी में यहां का मौसम पर्यटकों को ज्यादा आकर्षित करती है, और समुद्र से सटे होने के कारण यह beach के लिए बहुत प्रसिद्ध मानते है जिसका आनंद उठाने के लिए दूर-दूर से व्यक्ति यहां आते रहते हैं।
गर्मी काल के दौरान यानी कि मार्च और मई में यहां का तापमान सामान्यतः 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक तक पहुंच जाती है वही शीत ऋतु में दिसंबर से फरवरी के बीच यहां का तापमान लगभग 20 डिग्री सेल्सियस से 32 डिग्री सेल्सियस के बीच जही रहती है।
वही मानसून में जून से सितंबर-अक्टूबर के मध्य भारी बारिश और तेज हवाएं चलती है। 115.5 इंच की वार्षिकी औसतन वर्षा भी होती है।

गोवा की राजधानी पणजी के पर्यटक स्थल

पर्यटनशील स्थलों में, पणजी के प्रसिद्ध स्थानों में से माला क्षेत्र, मीरामार समुंद्र तटीय और कला एकेडमी, 18 जून रोड इत्यादि का नाम आता है। जून रोड शहर के मध्य एक व्यस्त मार्ग है जो कि यहां पर स्थानीय लोगों और पर्यटकों के लिए शॉपिंग करने की अच्छी जगह स्थित होती है।
और यहां की कला अकैडमी का सांस्कृतिकता महत्वपूर्ण है, इसका निर्माणकाल केंद्र वास्तुकारों चार्ल्सवर्थ कोरियाई द्वारा करवाया गया था, और यहां पर गोवा राज्यों के संस्कृतिक और कला की झलक देखने को मिलती है और
अन्य सांस्कृतिक-राजनीतिक कार्यक्रमों में फरवरी माह का कार्निवाल समारोहपूर्वक शामिल है जो कि यहां की सड़कों-गलियों पर एक रंगारंग फ्रेंड के रूप में प्रदर्शित किया जाती है।
गोवा राज्य की राजधानी में खानपान में दक्षिण भारत की कैंटीन शैली देखने को बहुत मिलती है जिसके लिए यहां खाने के बहुत सारे स्थानीय भी हैं। लेकिन लोकप्रियता पर्यटनशील व्यंजनों में समुद्री भोजन यानी सी-फूड की अधिकता भी होती है।
यहां घूमने और प्राकृतिकता सौंदर्यीकरण यानी कि सौंदर्य का आनंद लेने का सबसे उत्तम समय अक्टूबर से फरवरी यानी सर्दियों के मौसम में होता है जब यहां का तापमान ठंडा रहती है।
और इस शहर के प्रसिद्धि पर्यटकों अन्य प्रसिद्ध पर्यटकों स्थलों में गोवा पुरातत्ववेत्ता संग्रहालयों, रीस मगोस किला ,18 जून रोड, पुराना गोवा, किला अगुआरा, मीरामार बीच, दोना पौला बीच,गोवा राज्य संग्रहालय (जहां राज्य की संस्कृति से संबंधित बहुत सारी वस्तुओं का संग्रह देखने को भी मिलता है)
सचिवालयों, शांता दुर्गा मंदिर, डॉक्टर सलीम अली पक्षी अभयारण्यों ( जो कि पूरे भारत देश के सबसे बड़े पक्षी अभयारण्य में से एक माना जाता है, और जिसका नाम प्रसिद्ध ornithologist डॉक्टर सलीम अली के नाम पर रखा गया है), जामा मस्जिद आदिल शाही पैलेस, राज निवास एवं द लेडी ऑफ आवर लेडी ऑफ द इमैक्यूलेट कांसेप्ट जैसे स्थान आते हैं।
ये सभी स्थान यहां के पर्यटनशील विभागीय के महत्व्पूर्ण स्थलों में है जिन्हें देखने एवं यहां घूमने के लिए, ये दुनियाभर से पर्यटकों को आकर्षित करते हैं।

गोवा में परिवहन एवं यातायात की सुविधा

परिवहनकर्ताओं यानी कि यातायात व्यवस्थाओं यहां पहुंचाने के लिए आप सड़क मार्ग, रेल मार्ग, वायु मार्ग एवं समुद्र से जल मार्ग से भी पहुंचा सकते हैं वे भी बहुत आसानी से। लेकिन वायु मार्ग से यहां पहुंचने के लिए आप सीधा पणजी शहर तक उड़ान नहीं भर सकते हैं क्योंकि पणजी शहर का अपना कोई हवाई अड्डा नहीं है
अभी तक, और पणजी शहरों से दक्षिण की दिशा में 29 किलोमीटरों की दूरी पर एक गोवा एयर टर्मिनल्स डाबोलिम में स्थित है जहां से आप इस शहर तक पहुंच सकते हो। क्योंकि गोवा पर्यटनशील दृष्टिकोणों में से एक महत्त्वपूर्ण स्थानीय है इसीलिए दुनियाभर से पर्यटकों यहां आते हैं, इस एयरपोर्ट के लिए दुनियां भर के बड़े और मुख्य शहरों से उड़ाने भरी जाती है।
उसके बाद सड़क मार्ग में, देश के लगभग हर बड़े बड़े शहर एवं मुख्य स्थानों से यह सड़क मार्ग से जुड़ा है, और भारत के सभी क्षेत्रों से पणजी जाने के लिए बस सेवाएं उपलब्धता भी है। और तो और कदंबा बस स्टेशनों इस शहर का सबसे करीबी एवं सबसे व्यस्ततम परिवहनकर्ताओं स्टेशनों में से है।
और इसके अलावा भी बहुत सारी टैक्सी जैसी सुविधाएं भी आपको सहजता से मिल ही जाती हैं एवं आप निजी वाहनों से भी यहां तक पहुंच सकते हैं। निजी ट्रांसपोर्टर के वाहन आपको यहां हर समय उपलब्धि मिलेंगे।
फिर भी उसके बाद एक रेल मार्ग में मारगांव रेलवे स्टेशन पणजी शहर के का सबसे निकटतम रेल्वे स्टेशनों है जिसकी दूरी पणजी शहर से लगभग 39 किलोमीटर के करीब है देशभर के अन्य क्षेत्रों से मुख्य ट्रेनें यहां तक आती है।
एवं यहां से अन्य किसी माध्यमिक द्धारा राष्ट्रीयकरण यानी कि मुख्य शहरों तक पहुंचा जा सकता है। मुख्य ट्रेनों में बीकानेर-कोयंबटूर एक्सप्रेस-वे, गांधीधाम एक्सप्रेस-वे, एवं राजधानी एक्सप्रेस जैसे ट्रेनों का नाम आता है।

FAQ – अक्सर पूछे जाने वाला सवाल

प्रशन :- गोवा की राजधानी क्या है? Gowa Ki Rajdhani Kya Hai
उत्तर :- गोवा की राजधानी पणजी है यह भारत का सबसे ज्यादा बीच और बार वाला शहर भी है यहाँ कुल 7500 से अधिक बार है
प्रशन :- गोवा में कुल कितना जिले है? Gowa Ke Kul Kitna Jila Hai
उत्तर :- गोवा में कुल 2 जिले ही है और इसका क्षेत्रफल के दृष्टि से इस राज्य का सबसे बड़ा जिला उत्तरी गोवा और सबसे छोटा दक्षिण गोवा है
प्रशन :- वर्तमान में गोवा की आबादी कितनी है? Gowa Ki Aabadi Kitni Hai
उत्तर :- साल 2011 के जनगणना के मुताबिक देखा जाए तो गोवा की आबादी लगभग 18.3 लाख है।
प्रशन :- गोवा की स्थापना कब किया गया था? Gowa Ki Sthaapana Kab Kiya Gya Tha
उत्तर :- गोवा की स्थापना 30 मई वर्ष 1987 में हुआ था।
प्रशन :- गोवा घुमने के लिए सबसे अच्छा समय यानी महिने कौन सा है? Gowa Ghumne Ke Liy Sabse Achha Samay Kon Sa Hai
उत्तर :- गोवा घुमने के लिए सबसे अच्छा महिने नवंबर से अप्रैल के बिच अच्छा समय मना जाता है क्योंकि इस समय मौसमों अनुकूलता रखता है।
प्रशन :- गोवा की भाषा क्या है? Gowa Ki Bhasha Kya Hai
उत्तर :- गोवा में मुख्य रूप से राजकीय भाषा कोंकणी और लिपिक देवनागरी बोली जाती है।
प्रशन :- वर्तमान में गोवा का मुख्यमंत्री कौन है? Gowa Ka Mukhmantri Kaun Hai
उत्तर :- वर्तमान में गोवा की जो मुख्यमंत्री हैं वह है प्रमोद सावंत है
हमारे इस Article में आपलौग को अच्छे से जानकारी तो हो चुका होगा गोवा के बारे यदि कोई भी व्यक्ति को प्रोब्लम होती है तो हमारे कमेन्ट बॉक्स में लिखकर भेजे ओर एक बार आपने दोस्तों के पास जरूर शेयर करें धन्यवाद

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published.