भारत में कहाँ सबसे ज्यादा हीरे पाया जाता है? | Hira Kaha Paya Jata Hai

भारत में से एक ऐसा राज्य है जहां पर सबसे ज्यादा हीरा का उत्पाद किया जाता है और वह कौन-सा राज्य है जहां पर हीरा मिलता है । तो चलिए दोस्तों आज मैं इसके बारे में बहुत सी जानकारी देने वाले हैं लेकिन आपको जानकर बहुत खुशी होगा कि ऐसी जानकारी आज तक कोई नहीं दिया होगा । चलिए सुरू करते हैं आज का टॉपिक ।

आपलौग इस कम्पनी के बारे में जानते तो होगे
देश की सबसे बड़ी हीरा कम्पनी का मालिक हरिकृष्णा एक्सपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड है जो कि इसी मालिक हैं सावजी ढोलकिया.

32 प्रतिशत हीरा मध्यप्रदेश उत्पाद करते है. मध्यप्रदेश में हीरे का बहुत बड़ा भंडार तकरीबन 45,81,337 कैरेट है जो कि 32.5% पन्ना जिले में स्थित हैं. और इसके अलावा हीरे का उत्पादन करने वाले अन्य राज्य भी हैं जैसे कि छत्तीसगढ़, झारखंड, आंध्रप्रदेश, कर्नाटक और केरल हैं. आपको जानकार हैरानी होगी की गुजरात में हीरा ना के बराबर मिलता है,

लेकिन पुरे भारत को मालूम है कि हमारे देश में सबसे ज्यादा हीरा पया जाता हैं और हमारे भारतीय खान ब्यूरो के मुताबिक भी देश में हीरे के भंडार सिर्फ मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश और छत्तीसगढ़ में हैं. यह भंडार मध्य प्रदेश में 92 फीसद तक है. एनएमडीसी की वेबसाइट के मुताबिक, मझगवां खदान की क्षमता हर साल 85,000 कैरेट की उत्पाद किया जाता है ।

अब बात करते हैं – हीरे की संरचना क्या है?

एक पारदर्शी रत्न है। हीरा और यह रासायनिक रूप से कार्बनिक का शुद्धता रूप है। हीरा में प्रत्येक कार्बन परमाणु चार अन्य कार्बन परमाणुओं के साथ सह-संयोजी बन्ध द्वारा भी जुड़ा रहते है। कार्बन परमाणुओं के बाहरी-भीतरी कक्ष में उपस्थितियों सभी चारों इलेक्ट्रान सह-संयोजी बन्ध में भाग भी ‌ले लेते हैं तथा इसमें एक भी इलेक्ट्रान संवतंत्र नहीं होता है।

हीरे कैसे मिलते हैं?

बहुत ऐसी व्यक्ति कुछ भी कहते हैं कि हीरा समंदर में मिलती है कभी कोई बोलता है कि हीरा रेत में मिलती है पर हीरा जमीन के नीचे बहुत ज्यादा गहराई पर जब बहुत ज्यादा तापमान और दबाव पड़ता है तो कार्बन के अणु आपस में जुड़ जाते हैं और इससे हीरा बनना चलु हो जाता है और हीरे को फैक्ट्री में भी बनाया जाता है उसका नाम कृत्रिम हीरा कहा जाता है। लेकिन देखने में बिल्कुल असली हीरा जैसा दिखता है।

और चलीऐ बात करते हैं – हीरा कितने प्रकार का होता है?

जानिए हीरा कैसे बनता है प्रमुख रूप से हीरे की तीन किस्में हैं, जैम हीरा, पीला हीरा और औद्योगिक हीरा। अब बाजार में हीरे की 6 किस्में आसानी से सुलभ है, नीला-सफेद, सफेद, हलकाकेप, गहराकेप, हलका भूरा और गहरा भूरा। हीरे के टुकड़ों को केवल 22 कोणों तक ही तराशा जाती है। तराशने के बाद हीरे पर पॉलिश की जाती है।

हीरे की पहचान कैसे करे?

हीरे के कोणों से आरपार देखिए अगर इंद्रधनुष की तरह अलग अलग रंग दिखाई दें तो हीरा वहीं असली है, पर अगर कोई रंग ना दिखाई दे और केवल सफेदी दिखे तो समझ लीजिए आपने नकली पत्‍थर थामे हुए हैं. हीरा रोशनी का काफी बेहतरीन परावर्तक होता है यानि वो प्रकाश को रिफ्लेक्‍ट कर देता है.

कोयले की खान से हीरा कैसे निकलता है?

कोयले की खान से बिल्कुल हीरा निकल सकता है इसके लिए रिऐक्टर का तापमान 3500 डिग्री सैल्सिलस होना चाहिए और , जो बिल्कुल खान के तापमान के समान होती है. इससे हीरा और कार्बन ग्रेफाइड में बदल कर हीरा बन जाता है. इस पूरी प्रक्रिया को करने के लिए कम से कम 80 घण्टे में यह बनकर तैयार हो जाता है और बाहर निकालकर इसे एसिड से अलग करके प्राप्त बठा जाता है.

क्या हीरा अंधेरे में चमकता है?

हा हीरा कैसे चमकता है अंधेरा में उसका मुख्य कारण है जब हीरे के माध्यम से प्रकाश की आवाजाही होती है तो, कभी-कभी यह प्रकाश से बिखर जाती है और खंडित हो जाती हैं, जिससे हीरा चमकता है यानी हीरे का चमकना निर्भर करता है कि प्रकाश हीरे के कौन से हिस्से से गुजरता है, अपवर्तन, विक्षेपण होता है और कुछ अंधेरे क्षेत्रों का निर्माण भी होता है

1 कैरेट हीरे की कीमत कितनी है?

मालूम हो कि 1 कैरेट हीरे की कीमत करीब 5 लाख रु तक हो सकती है।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published.